अपराधी अपहरण गिरफ्तार जाम नाबालिग न्यूज पुलिस प्रदर्शन बाईक सवार बिहार भारत लड़की समस्तीपुर

बाईक सवार अपराधियों ने किया नाबालिग छात्रा का अपहरण।

ब्यूरो रिपोर्ट / समस्तीपुर
समस्तीपुर जिला के दलसिगसराय अनुमंडल क्षेत्र में एक नाबालिग छात्रा के अपहरण के बाद जमकर हंगामा हुआ है। परिजनों ने दलसिंहसराय -विशनपुर रोड को जाम कर प्रदर्शन किया। परिजनों ने मौके पर वरीय अधिकारियों को बुलाने की मांग की। इस दौरान घंटों सड़क जाम की स्थिति बनी रही।
दलसिंहसराय अनुमंडल के उजियारपुर थाना क्षेत्र के मालती गांव से मंगलवार की रात एक दलित नाबालिग लड़की का अपहरण बाईक सवार अपराधियों ने उस वक्त कर लिया जब वह अपनी मां के साथ सो रही थी। अपहृता की पहचान मालती पंचायत के वार्ड संख्या 08 निवासी रामसेवक पासवान की 15 साल की पुत्री  के रूप मे की गयी है। छात्रा इसी साल बिहार बोर्ड से मैट्रिक की परीक्षा पास की है।

घटना से आक्रोशित लोगों ने दलसिंहसराय- विशनपुर पथ को मालती चौक के पास बांस बल्ला लगाकर पूरी तरह जाम कर दिया। इस जाम के कारण सड़क पर दोनों तरफ गाड़ियों की लंबी कतार लग गयी। सड़क जाम कर रहे लोग जामस्थल पर एसपी और दलसिंहसराय एसडीपीओ को बुलाने के साथ ही अपहृता की बरामदगी की मांग पर अड़े हुए थे।
इधर घटना की जानकारी मिलते ही उजियारपुर पुलिस घटनास्थल पर पहुंच मामले की छानबीन मे जुट गयी है। घटना के संबंध मे प्राप्त जानकारी के अनुसार अपहृता गुड़िया मंगलवार की रात खाना खाकर अपनी मां के साथ घर मे सोई हुई थी । घर के मुख्य दरवाजे पर बने बांस का दरबाजा तोड़कर घर मे करीब 12 से 15 की संख्या मे अपराधी घुस गए और मां के साथ सो रही गुड़िया को जबरदस्ती उठाकर ले जाने लगे। जब इसका विरोध अपहृता की मां ने किया तो अपराधियों ने अपहृता के मां को उठाकर बाहर सड़क पर फेंक दिया। गुड़िया के चिल्लाने की आवाज सुनकर उसका भाई अविनाश कुमार पासवान जब अपनी बहन को बचाने के लिए अपराधियों से भिड़ा तो अपराधियों ने उसे भी पिस्तौल के बट से मारा जिसके कारण वह भी बेहोश हो गया। इस तरह अपहृता के भाई और मां को मारपीट कर अपराधी लड़की को अपने मोटरसाईकिल पर बिठाकर फरार हो गए।
स्थानीय ग्रामीणों ने शक के आधार पर मालती पंचायत के बेदौलिया गांव के एक युवक विवेक कुमार को पकड़कर स्थानीय उजियारपुर पुलिस के हवाले कर दिया। अपहृता के परिजनो का कहना है कि लड़की का अपहरण करने वाले युवक मुफ्फ्सिल थाना क्षेत्र के जितवारपुर गांव के रहने वाले प्रेम कुमार राम और उसके शागिर्दों का ग्रामीण विवेक कुमार राम के घर आना जाना लगा रहता था। इसलिए इस घटना मे विवेक कुमार के भी शामिल होने की आशंका से इनकार नही किया जा सकता है।
अपहृता के पिता राम सेवक पासवान घर से बाहर रहकर टैक्सी चलाते हैं। जिससे उनका घर परिवार का भरण पोषण होता है। घटना के वक्त अपहृता के पिता घर पर मौजूद नहीं थे। जामस्थल पर मौजूद लोगों ने बताया कि जब तक प्रशासन अपहृत लड़की को बरामद और  अपहर्ता को गिरफ्तार नहीं करती है तब तक आंदोलन किया जाएगा।

 2,713 total views,  3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *