Begusarai BIHAR Health INDIA NEWS

कोरोना महामारी से बचने हेतु बेगूसराय जिले के दो अनुमंडल के 9 गांव किया गया सील।

बलवंत चौधरी (बेगूसराय)

(बेगूसराय) : कोरोना महामारी जिले में अपनी उपस्थिति दर्ज करा चुकी है। तीन लोगों के रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन और सक्रिय हो गई है । बुधवार को तेघरा अनुमंडल के पांच गांव को सील करने के बाद गुरुवार को बखरी अनुमंडल के भी 4 गांव को पूरी तरह सील कर लोगों की आवाजाही को एकदम प्रतिबंधित कर दिया गया है । हालांकि बखरी एसडीएम के अनुसार अनुमंडल में एक भी कोरोना का मामला नहीं है। लेकिन विदेशी लोगों के संपर्क में आने की संभावना को देखते हुए यह कदम उठाया गया है।अलर्ट प्रशासन सभी तरह के उपाय कर कोरोना के संक्रमण को फैलने से रोकने का उपाय कर रही है। मंसूरचक प्रखंड के आलमचक गांव में संदिग्ध  दो ब्यक्ति को मेडीकल टीम ने मंगलवार की देर रात घर से उठा कर कोरोना वायरस संक्रमण की जांच करवाने के लिए एम्बुलेंस से बेगूसराय भेज दिया गया है। जमात के आलमचक गांव में भी एक दिन रहने को लेकर बेगूसराय डीएम ने गंभीरता से लेते हुए आलमचक गांव के तीन किलोमीटर की दूरी तक सील कर दिया। एसडीओ तेघड़ा निशांत कुमार,डीएसपी ओमप्रकाश ने भी मंसूरचक प्रखंड के साठा पंचायत के मुर्गीया चक  गांव पहुंच कर वहां के इमाम से पूछ ताछ किया। इमाम ने दो दिन  तक विदेशी जमात के ठहराव की बात को स्वीकारते हुए उनके साथ नमाज अदा करने की भी बात  को स्वीकार किया हैं। उक्त मामला को लेकर स्वस्थ विभाग भी गंभीर हो चुका है। बचाव के लिए जिस क्षेत्र को सील किया गया हैं उस गांव के एक-एक लोगों के स्वास्थ्य का जांच किया जा रहा है। जांचोपरांत संदेहास्पद व्यक्ति को तुरंत ही विशेष जांच के लिए एम्बुलेंस सेवा से बेगूसराय सदर अस्पताल भेजे जाने की तैयारी है। अधिकारियों ने लोगों  से कहा हैं कि यह सब लोगों की सुरक्षा के लिए किया जा रहा हैं । इससे घबराने की जरूरत नहीं है।घर के अंदर अधिक से अधिक रहें और सुरक्षित रहने की बात कही है।
मंसूरचक के गांव के सील होने के दुसरे दिन  डीएम अरविंद कुमार,पुलिस अधीक्षक अवकाश कुमार,नगर आयुक्त मो हामीद अंसारी, डीपीएम शैलेशचन्द्रा,सिविल सर्जन डॉक्टर कृष्ण मोहन साठा पंचायत  के मुर्गीयाचक गांव पहुंच कर उच्च स्तरीय जांच पड़ताल की। डीएम ने अधिकारियों को कोरोना महामारी से बचाव हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए एवं इसका सख्ती से पालन करवाने की हिदायत अधिकारियों को दी है।यहां के 05 ब्यक्ति के सेम्पल लेकर जांच के लिए भेज दिया  है। जबकि आलमचक गांव के 05 संदिग्ध को बेगूसराय सदर अस्पताल भेज दिया गया है।

बखरी अनुमंडल के चार गांव सील :
अब बाहरी व्यक्तियों के बखरी अनुमंडल के कई गांव में प्रवास करने की सूचना मिलने से हड़कंप मच गया है । प्रशासन ने अनुमंडल के बखरी प्रखंड के चकहमीद, बखरी नगर पंचायत के पठानटोली, मक्खाचक एवं नावकोठी प्रखंड का हसनपुर बागर गांव को सील कर दिया है।
बखरी एसडीओ अनिल कुमार का कहना है कि जिला में कोरोना के मरीजों के मिलने के बाद इन गांवों को एहतियातन सील किया जा रहा है। बताया कि जिला में कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए सभी मरीज एक विशेष क्षेत्र के हैं। जहां तब्लिगी जमात की एक विदेशी टीम आई थी। संक्रमित सभी व्यक्ति उनके संपर्क में आए थे। उक्त इंडोनेशियाई टीम धर्म प्रचार के लिए बखरी अनुमंडल के उन चारों गांव मुहल्ले में भी ठहरी थी। पदाधिकारियों ने स्पष्ट बताया कि इन गांव सहित बखरी अनुमंडल में इस तरह के एक भी केस सामने नहीं आए हैं। फिर भी एहतियात के तौर पर यह कदम उठाए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव के सील होने के बाद किसी का भी घरों से बाहर निकलना अपराध माना जाएगा। सभी गांव की सीमाएं बंद रहेंगी। बाहरी लोगों का गांव में प्रवेश भी वर्जित रहेगा।

 3,002 total views,  5 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *