Begusarai BIHAR INDIA lockdown NEWS

जिला स्तरीय जांच टीम गठित। 24 घंटे में जांच रिपोर्ट तलब। जिले के पीडीएस डीलरों द्वारा अनियमितता पर डीएम बेगूसराय का एक्शन।

बलवंत चौधरी (बेगूसराय)
 (बेगूसराय) : जिले के विभिन्न जन वितरण प्रणाली के डीलरों द्वारा राशन वितरण के दौरान किए जाने वाले अनियमितताओं के संबंध में उपभोक्ताओं/जनप्रतिनिधियों के शिकायत को देखते हुए जिलास्तरीय पदाधिकारियों से जांच कराने का निर्णय लिया गया है। डीएम बेगूसराय अरविंद कुमार वर्मा ने प्रेम विज्ञप्ति जारी कर यह जानकारी दी।

 

बुधवार 22 अप्रेल को जारी प्रेस रिलीज में डीएम ने कहा है कि पीडीएस दुकानों की जांच हेतु सभी प्रखंडों के लिए अलग-अलग जिलास्तरीय 18 पदाधिकारियों को प्रतिनियुक्त किया गया है। सभी प्रतिनियुक्त जांच पदाधिकारियों को निदेशित किया गया है कि जांच हेतु निर्धारित प्रखंडों में आज ही जांच कार्य पूर्ण करना सुनिश्चित करेंगे।
साथ ही यह भी निदेशित किया गया है कि संबंधित प्रखंडों में कम से कम वैसे पांच जन वितरण प्रणाली दुकानों की जांच करेंगे, जिसकी जांच विगत दिनों में किसी अन्य पदाधिकारियों द्वारा नहीं की गई है। सभी जांच पदाधिकारी को कल यानि 23 अप्रैल तक जांच प्रतिवेदन जिला आपूर्ति शाखा को उपलब्ध कराने का भी निदेश दिया गया है। जांच के दौरान यदि किसी विक्रेता द्वारा राशन वितरण के दौरान अनियमितता अपनाने का मामला संज्ञान में आता है तो उसके विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी। प्राथमिकी दर्ज कराते हुए उसके लाइसेंस को रद्द किया जाएगा।

 

डीएम ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को सीमित करने के उद्येश्य से लागू पूर्ण लॉकडाउन आम नागरिकों को लिए पूर्णतः लागू है तथा लॉकडाउन उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जा रही है। इसलिए अनावश्यक रूप से घर से बाहर नहीं निकलें। खाताधारक/आमजन बैंक शाखाओं, ग्राहक सेवा केंद्रों एवं अन्य कार्य स्थलों पर निश्चित तौर पर सोशल डिस्टेंशिंग का अनुपालन करें। उन्होंने जन-धन खाताधारक अफवाहों/भ्रामक बातों पर विश्वास कर बैंक शाखाओं/ग्राहक सेवा केंद्रों पर भीड़ नहीं लगाने की भी अपील की।  कहा जन-धन खातों में सरकार द्वारा अंतरित राशि निकासी नहीं होने पर भी वह स्वतः वापस नहीं होगी। सभी खाताधारकों के पैसे सुरक्षित हैं।
यदि बैंक शाखाओं/ग्राहक सेवा केंद्र जाने की आवश्यकता भी हो तो वहां निश्चित तौर पर सोशल डिस्टेंशिग के अनुपालन करें तथा प्रत्येक व्यक्ति दूसरे व्यक्ति से कम-से-कम 01 मीटर की दूरी अवश्य रखें।
उन्होंने बताया कि जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित मामलों की संख्या 09 हैं। वर्तमान में आठ संक्रमित व्यक्तियों का ईलाज निर्धारित प्रोटोकॉल के तहत आइसोलेशन-कम-ट्रीटमेंट सेंटर में चल रहा है। साथ ही 24 व्यक्तियों को आइसोलेशन वार्ड में रख कर उसके स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है। जिले से अब तक 918 व्यक्तियों का सैंपल जांच हेतु पटना भेजे गए जिसमें 846 व्यक्ति का जांच रिपोर्ट प्राप्त हुआ है। इनमें से 837 व्यक्ति की जांच रिपोर्ट निगेटिव है जबकि 72 सैंपल का रिपोर्ट प्रतीक्षित है। इसी प्रकार लगभग 3,500 व्यक्ति होम क्वारेन्टाइन में तथा 303 व्यक्ति स्कूल क्वारेन्टाइन सेंटर में आवासित हैं, जहां उन्हें नियमित भोजन व स्वास्थ्य जांच की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।
 कोरोना वायरस संक्रमित लोगों की पहचान के लिए की जा रही डोर-टू-डोर सर्वे के तहत कुल लक्षित घरों 5,94,458 के विरूद्ध अब तक 5,44,494 घरों के 27,78,240 व्यक्तियों का स्क्रीनिंग किया जा चुका है जिसमें से कुल 260 व्यक्तियों को जांच हेतु चिन्हित किया गया है। उन्होंने स्क्रीनिंग से शेष बचे हुए लोगों से अपील करते हुए कहा है कि सघन कोरोना सर्वेक्षण में जिला प्रशासन का सहयोग करें तथा सर्वेक्षण दल द्वारा पूछे गए सवालों की सही जानकारी दें।
 डीएम ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि जिला प्रशासन द्वारा संचालित विभिन्न चार आपदा केंद्रों यथा ज्ञान भारती स्कूल, बस स्टैंड, बेगूसराय, सामुदायिक भवन, बाघा एवं मध्य विद्यालय, बलिया के माध्यम से अब तक लगभग 4300 जरूरतमंद लोगों को भोजन एवं आवासन की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। देश के विभिन्न हिस्सों में बेगूसराय जिले के फंसे हुए लोगों के सहायतार्थ जिले में गठित प्रवासी मजदूर सहायता कोषांग के माध्यम से अब तक 223 प्रवासी मजदूर द्वारा प्राप्त सूचनाओं के आधार पर उनके समस्याओं का निवारण किया गया। कोरोना वायरस एवं लॉकडाउन से संबंधित विभिन्न मामलों के संबंध में सूचना देने हेतु जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष की स्थापना की गई है, जिसकी दूरभाष संख्या 06243-222835 है।

 

 2,460 total views,  3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *