न्यूज बिहार भारत रोसड़ा सफाई कर्मी समस्तीपुर

सफाई कर्मियों के हड़ताल से परिषद क्षेत्र में लगा कूड़े का अंबार दुर्गंध से लोग परेशान।

अत्यंत कुमार की रिपोर्ट।

रोसडा़ नगर परिषद के दैनिक सफाई मजदूरों  अपने लंबित वेतन भुगतान की मांग को लेकर हड़ताल पर है। हड़ताल का प्रभाव अब शहर की मुख्य सड़कों एवं गुली-मुहल्लों में मुखर होने लगा है। शहर में साफ-सफाई का कार्य पूर्णरूपेण ठप रहने से मुख्य सड़कों के किनारे गंदगी का अंबार लगा है। वहीं हड़ताल के पूर्व शहर के नालियों से निकाली गयी गाद और कचड़ा सड़कों पर फैलने लगा है। हल्की बारिश होने पर भी नाले की गंदगी फिर से नाले में चली जा रही है, साथ ही मुख्य सड़क पर भी गंदगी के फैलाव से आवागमन में दिक्कत होने लगी है। हड़ताल के कारण संपूर्ण शहर नरक में तब्दील हो गया है।

अपने मजदूरी भुगतान की मांग को लेकर 1 जून से हड़ताल पर डटे मजदूरों का कहना है कि जब तक भुगतान नहीं होगा कामबंद आंदोलन जारी रहेगा। नप प्रशासन द्वारा बार-बार मजदूरी भुगतान करने का आश्वासन दिया जाता है लेकिन समस्या के निदान के लिए गंभीरता से कार्रवाई नहीं की जा रही है। मजबूरन सफाईकर्मियों को कामबंद आंदोलन जारी रखना पड़ रहा है।

वित्तीय वर्ष 2021-2022 का बजट पारित हो चुका है। सफाईकर्मियों के बकाया मजदूरी भुगतान किए जाने का अनुरोध ईओ से किया गया है।
बता दें कि नप क्षेत्र में साफ-सफाई का काम आऊट सोर्सिग के माध्यम से कराया जा रहा है जिसके मद में प्रति माह करीब 15 लाख रुपए खर्च किए जा रहे हैं। सालाना सफाई खर्च करीब 1 करोड़ 80 लाख रुपए आता है। इतनी बड़ी राशि खर्च करने के बावजूद भी न तो शहर और न ही नाले की समुचित सफाई-उड़ाही ससमय हो पा रही है।

 5,179 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *