घर छौड़ाही न्यूज पंचायत पदाधिकारी पानी बारिश बिहार बेगूसराय भारत

झमाझम बारिश से छौड़ाही के एकंबा गांव में बाढ़ से हालात, घर, मदरसा मस्जिद सब पानी पानी सड़कों पर भी जलजमाव, ग्रामीणों को खाने-पीने सोने पर भी आफत।

बलवंत चौधरी (सबकी खबर आठों पहर न्यूज़ रूम)

  (बेगूसराय) : रुक रुक कर हो रही झमाझम बारिश से छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के कई गांव में बाढ़ से हालात हो गए हैं। वर्षा मापक केंद्र छौड़ाही के प्रभारी सुनील कुमार मेहता ने बताया कि शुक्रवार को 17 एमएम,  शनिवार को तीन एमएम एवं आज रविवार आठ बजे सुबह तक 36 एम एम बारिश रिकॉर्ड की गई है। वहीं अगस्त महीने के 28 दिन में 311 एम एम बारिश रिकॉर्ड की गई है। इस स्थिति में कावर परिक्षेत्र के एकंबा पंचायत में स्थिति सबसे गंभीर है। घर, सड़क, दुकान, मदरसा, मस्जिद सब जगह सिर्फ पानी पानी है।  सैकड़ों परिवार शनिवार शाम से भूखे प्यासे हैं। सरकारी मदद यहां तक नहीं पहुंच पाई है।

पढ़ाई, इबादत, भोजन पर आफत : सलीम, इश्तियाक, मुन्ना एकंबा गांव के मदरसे में पढ़ते हैं। उनके स्वजन घुटने भर पानी में छात्रों का हाथ पकड़कर मदरसा पहुंचाने जा रहे थे। कहा पढ़ाई जरूरी है। देखिए जान जोखिम में डालकर छात्रों को ले जा रहे हैं। फिर वापस भी लाना पड़ेगा, बड़ा कष्ट है। वही सुल्ताना बेगम, रोशनी खातून आदि महिलाओं का कहना था कि गबरा भर गया है। अब पानी घर में कमर भर है। अनाज खाने पीने का सामान कपड़ा सब भीग गया है। अनाज तो बर्बाद ही हो गया। अब यह पानी कब निकलेगा पता नहीं। पीने के पानी तक पर आफत आ गया है। दूसरे के छत पर किसी तरह सामान रखें हैं।

प्रशासन को जल निकासी करवा हम लोगों को मदद करना चाहिए। मदरसा के प्रधानाध्यापक का कहना था कि जो बच्चे आए हैं उन्हें पढ़ा रहे हैं। अभिभावकों को सतर्कता के साथ बच्चे को पहुंचाने को कहा गया है। छोटे बच्चे को ज्यादा खतरा है। प्रशासन जल्द से जल्द जल निकासी की व्यवस्था करें। पढ़ाई भोजन इबादत सब में परेशानी हो रही है।

एकंबा गांव में पानी ही पानी : लगातार बारिश से छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के एकंबा पंचायत के सघन आबादी वाले वार्ड नंबर बारह में मदरसा , मस्जिद समेत सैकड़ों घरों में जलजमाव हो गया है। सड़क पर दो फीट पानी जमा है। घरों के अंदर तीन फीट तक पानी जमा होने से खाना सोना सब बंद है। ग्रामीण मोहम्मद नियामत हुसैन, मो शमशेर,मो इरफान, मो अख्तर, मो इसराफील, मोहम्मद अख्तर आदि ग्रामीणों ने बताया कि मुहल्ले में एक बड़ा गड्ढा है।जो बारिश में ओवरफ्लो होकर घरों सड़कों पर आ गया है। ग्रामीणों का कहना है कि नाला निर्माण कर मात्र 500 मीटर दूर काबर चौर में जल निकासी की व्यवस्था हो सकती है। इसके लिए सालों से अधिकारी, सांसद, विधायक सब से आग्रह किए हैं। पंचायत स्तर पर भी कोई उपाय नहीं किया गया। देखिए, शनिवार संध्या से ही खाना पीना सैकड़ों परिवारों का बंद है।

कोई देखने वाला नहीं आया है। हम लोग को अब 15-20 दिन इसी तरह जलजमाव में रहना पड़ेगा। भयावह स्थिति उत्पन्न हो गई है। ग्रामीणों ने अंचलाधिकारी छौड़ाही और जिलाधिकारी महोदय से तुरंत अधिकारियों की टीम भेज स्थिति का आकलन कर लोगों को राहत की व्यवस्था करने के साथ-साथ जल निकासी की व्यवस्था करने की मांग की है।
कहते हैं अधिकारी : छौड़ाही अंचल के सीआई सुरेंद्र सिंह ने बताया कि इस संदर्भ में अभी तक कोई सूचना नहीं मिली है। ग्रामीणों द्वारा आवेदन मिलने पर देखेंगे।

 23,830 total views,  3 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *