गया न्यूज बिहार भारत

दुर्गा पूजा एवं नगर निकाय चुनाव को लेकर जिलाधिकारी ने विडीयो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये दिए दिशा निर्देश।

धीरज गुप्ता की रिपोर्ट।
 गया:- सोमवार को आगामी दुर्गा पूजा,  नगर निकाय चुनाव इत्यादि त्योहारों के मद्देनजर जिले में विधि व्यवस्था एवं शांति व्यवस्था, भूमि विवाद संबंधी कार्रवाई एवं मद्य निषेध पर व्यापक कार्रवाई के संबंध में जिला पदाधिकारी, गया डॉक्टर त्यागराजन एसएम एवं वरीय पुलिस अधीक्षक हरप्रीत कौर की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सभी अंचलाधिकारी तथा थाना अध्यक्ष के साथ बैठक करते हुए उन्होंने  सभी संबंधित पदाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी  को शीघ्रता पूर्वक कार्रवाई करने का निर्देश दिये है।
      वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग को संबोधित करते हुए जिला पदाधिकारी ने कहा कि इस वर्ष का दुर्गा पूजा काफी संवेदनशील है जो कि नगर निकाय का चुनाव का कार्य भी इसी महीने में साथ साथ चल रहा है। सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को इसके लिए विशेष निगरानी रखने का निर्देश दिया है।
      जिला पदाधिकारी ने स्पष्ट निर्देश दिया है कि इस वर्ष भगवान की प्रतिमा को बैठाने हेतु नया कोई भी लाइसेंस निर्गत नहीं किया जाएगा। पूर्व से ही जो लाइसेंस है उसे ही रिन्यू किया जाएगा। इसके लिए अनुमंडल वार सभी अनुमंडल पदाधिकारी एवं थानाध्यक्ष अपने स्तर पर आयोजन समिति के लोगों के साथ बैठक कर ले। आगे यह भी निर्देश दिया कि सभी आयोजन समिति को यह निर्देश दे कि अपने-अपने मूर्ति पंडालों को मजबूती से पंडाल का निर्माण कराएं जिससे कोई भी छोटी से छोटी घटना ना हो सके। इसके साथ ही भीड़ में कोई घटना ना हो इसके लिए अपने पंडाल में सरकार द्वारा निर्गत सभी गाइडलाइन का अक्षरसः  पालन भी करावे। सीसीटीवी कैमरे एवं आग बुझाने हेतु कम से कम पर्याप्त संख्या में सैंड बैग इत्यादि जरूर अपने पूजा पंडाल में रखें। सभी पूजा पंडालों को भवन निर्माण विभाग तथा फायर ब्रिगेड विभाग द्वारा जांच भी कराया जाएगा। जिस किसी स्थान पर छोटी मोटी पूर्व में घटना हो चुकी है उन स्थानों पर अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष अनिवार्य रूप से निरीक्षण करते हुए वर्तमान स्थिति से अवगत कराएंगे तथा जिन स्थानों पर कोई पूर्व में बड़ी घटना हुई है उन स्थानों पर अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी स्वयं जाकर वर्तमान स्थिति से मुआना होते हुए स्थानीय लोगों से बात करेंगे।
      वर्तमान स्थिति का आकलन करते हुए शांति समिति की बैठक सभी थाना व अनुमंडल वार अवश्य करा लें। सभी अनुमंडल पदाधिकारी तथा थानाध्यक्ष को निर्देश दिया कि अपने-अपने क्षेत्र में निर्धारित जुलूस मार्ग का सत्यापन अवश्य कर लें ताकि उसी निर्धारित रूट से ही दशहरा के प्रतिमा का विसर्जन कराया जा सके। किसी भी टेंट पंडाल में राजनीतिक, सांप्रदायिक तथा धार्मिक भावना को ठेस ना पहुंचे ऐसा कोई फ्लेक्सी- बैनर एवं मूर्ति ना लगाएं, इसे सभी आयोजन समिति सुनिश्चित कराएं।

सभी विसर्जन स्थल पर गहरा पानी रहने की स्थिति को देखते हुए पर्याप्त मजबूती से बैरिकेडिंग एवं गोताखोरों की उपस्थिति सुनिश्चित कराएं।  इस बैठक में मध निषेध की समीक्षा में सहायक आयुक्त मद्य निषेध, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सभी अंचलाधिकारी, सभी थानाध्यक्ष सहित अन्य पदाधिकारी को सख्त निर्देश दिया की वह जिले में शराब की आवाजाही बंद करने पर शीघ्रता पूर्वक कार्रवाई करें और छापेमारी करके इसमें संलिप्त व्यक्तियों को चिन्हित करते हुए उन पर सख्त कार्रवाई करें।   अगर कहीं भूमि विवाद है तो निराकरण की दिशा में अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष तत्परता के साथ सुनवाई करे ।जिला पदाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक द्वारा संयुक्त रुप से सभी थानाध्यक्षों, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी एवं सहायक आयुक्त मद्य निषेध को निर्देश दिया कि वे जिले में अभियान चलाकर शराब के बड़े माफिया गिरोह को पकड़ने हेतु बड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने कहा कि सरकार का महत्वपूर्ण अभियान मध निषेध को जिले में तत्परता पूर्वक चलाकर शराब के अड्डों, शराब पहुंचाने वाले वाहनों, व्यक्तियों एवं माफिया पर कड़ी कार्रवाई करें। अगर कहीं शराब पकड़ी जाती है तो संबंधित अंचलाधिकारी/ पदाधिकारी/ पुलिस पदाधिकारी यह पता लगाने का प्रयास करें कि इसके पीछे कौन सा व्यक्ति है तथा कौन सा चैनल कार्य कर रहा है। इस चैनल को तोड़ने हेतु संबंधित कार्रवाई करें। उन्होंने सहायक आयुक्त मध निषेध को निर्देश दिया कि संबंधित थानाध्यक्ष एवं पुलिस पदाधिकारी का सहयोग लेकर मध निषेध हेतु बड़ी कार्रवाई करें।
   वरीय पुलिस अधीक्षक ने थानाध्यक्षों को सख्त निर्देश दिया कि जिस बाजार में, जिस स्थल पर एवं जिस वाहन पर शराब पहुंचती है उसे चिन्हित कर औचक छापेमारी करें। पूर्व से असूचना संग्रह प्राप्त करें तथा सही सूचना के आधार पर छापेमारी की कार्रवाई करें। थानाध्यक्ष को निर्देश दिया कि दुर्गा पूजा को ध्यान में रखते हुए जिले के असामाजिक तत्वो, अपराधी प्रवृत्ति के लोगों एवं शराब माफिया पर सख्त कार्यवाही करने हेतु प्रस्ताव दें। अगर आवश्यकता हो तो उन पर सीसीए एक्ट लगाने हेतु प्रस्ताव देने में कोताही ना बरतें।  वरीय पुलिस अधीक्षक ने जीटी रोड, टिकारी अनुमंडल के क्षेत्र, शेरघाटी अनुमंडल के क्षेत्र,  आमस, बाराचट्टी, डोभी, मुफस्सिल, गया नगर निगम क्षेत्र, बेला पर विशेष फोकस करते हुए असूचना संग्रह करें तथा सही सूचना के आधार पर बड़ी कार्रवाई को अंजाम दें। मूर्ति विसर्जन के दौरान डीजे पूरी तरह प्रतिबंध है। कहीं भी डीजे का प्रयोग होने पर डीजे संचालक के विरुद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। उ किसी भी टेंट पंडाल में विवादित स्लोगन  और फोटो का प्रदर्शित ना हो जिससे किसी भी धार्मिक भावना को ठेस पहुंचे। यह सभी थाना अध्यक्ष एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अपने-अपने क्षेत्रों में तिथि निर्धारित करते हुए अनिवार्य रूप से फ्लैग मार्च कर ले।
 दुर्गा पूजा में अत्यधिक भीड़ को लेकर ट्रैफिक व्यवस्था निर्बाध रूप से रहे इसके लिए अभी से ही ट्रैफिक प्लान तैयार कर ले।
  दुर्गा पूजा के अवसर पर सोशल मीडिया पर पूरी नजर रखी जाएगी। यदि कोई व्यक्ति कोई अफवाह और अन्य चीजें जो किसी धार्मिक भावना को ठेस पहुंचने वाले कंटेंट अपलोड करते हैं, तो उन पर नजर रखते हुए अफवाह फैलाने वालों के विरुद्ध कार्रवाई करेगी। इस बैठक में नगर पुलिस अधीक्षक, अपर समाहर्ता, नगर आयुक्त, आईपीएस प्रोफेशनल, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सहायक आयुक्त उत्पाद सहित अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

 1,778 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *