किसान खेत खेती न्यूज बिहार बेगूसराय भारत

छौड़ाही में ढाई एकड़ में प्रायोगिक तौर पर तैयार हो गया सेब का बगीचा, कश्मीर नहीं बेगूसराय का सेव खाने को हो जाइये तैयार।

* 45 डिग्री तापमान में भी होगा सेब का पैदावार। छौड़ाही में तैयार हो गया है पौधा। इस सीजन फलन की है उम्मीद।
विनोद शर्मा की रिपोर्ट।
 (बेगूसराय) : जिले के छौड़ाही प्रखंड में भी स्वादिष्ट सेब कि खेती की गई है। प्रारंभिक तौर पर चार किसान ने ढाई एकड़ में का पौधा लगाए थे जो,अब फलने को तैयार है। विशेष फसल क्षेत्र विस्तार योजना अन्तर्गत सेव की खेती को भी शामिल किया गया है। जिसमें बेगूसराय जिले के सेव की खेती का कुल लक्ष्य पांच एकड़ है। सर्वाधिक एक एकड़ में एकंबा पंचायत में किसान सलाहकार अनीश कुमार ने हरिमन सेव का पौधा लगाया गया है। जिसका सोमवार को जिला कृषि पदाधिकारी राजेंद्र कुमार वर्मा ने निरीक्षण किया। इस सीजन से पैदावार होने की बात कही गई है। 45 डिग्री सेल्सियस में भी फलेगा सेव : किसान सलाहकार अनीश कुमार ने बताया कि हरिमन 99 सेव एक अकेली सेव प्रजाति है जो मात्र तेरह महीने में फलन शुरू कर देती है। आज आप इस सेब का पौधे को लगाएंगे और एक साल बाद सेब खाने का मजा ले सकते है। उन्होंने बताया कि हरिमन सेब के पौधे गर्मियों में 45-50 डिग्री तक के तापमान में भी सेब का पैदाबार होता है। किसान सलाहकार अनीश कुमार ने परागण के ख्याल से दो अन्य गर्म जलवायु के सेव अन्ना और डोरसेट गोल्डन को भी लगाया है। हरीमन 99 किस्म की विशेषता है कि यह अकेली प्रजाति है जो 13 महीने में ही फल देना प्रारंभ कर देती है। हरीमन 99 सेव की न्यूट्रीशनल वैल्यू कश्मीर और हिमाचल के पेड़ों से भी ज्यादा होती है। इस सेव के पौधे को दिसंबर से फरवरी तक लगाया जाता है। एक व्यस्त पेड़ पर एक से डेढ़ क्विंटल तक सेब हो जाते हैं।आमतौर पर औसतन 250 ग्राम तक का एक सेब का वजन होता है। सर्दियों के सेब पेड़ों के विपरीत हरीमन 99 सिर्फ गर्मियों में ही पैदावार होता है। जून तक इसकी फसल तोड़ी जाती है। होगा अच्छा मुनाफा : किसान सलाहकार ने बताया कि सेब की खेती से मुनाफा की बात करे तो प्रति एकड़ में सेब के पौधे की रोपाई में करीब 50 हजार रूपए का खर्च होता है। पौधों को बचाने के लिए तार की घेराबंदी करना जरुरी होता है। पहले वर्ष एक एकड़ से लगभग 70 से 80 हजार रूपए का शुद्ध मुनाफा होता है।वहीं अगले वर्ष से खर्च घटती जाती है और मुनाफा बढ़ता जाता है। इस तरह सेब के पौधों की एक बार रोपाई करके सालाना लाखों रूपये का मुनाफा कमाया जा सकता है।   इन किसानों ने भी की है खेती : छौड़ाही प्रखंड क्षेत्र के एकंबा पंचायत के किसान सलाहकार अनीश कुमार ने एक एकड़, सावंत पंचायत से विनय चौरसिया ने आधा एकड़, ऐजनी के किसान मदन साह ने आधा एकड़ और अमारी के किसान धर्मेंद्र महतो ने आधा एकड़ में सेब की खेती की है।

किसानों को सेब का पौधा विशेष फसल क्षेत्र विस्तार योजना अंतर्गत उपलब्ध कराया गया है। कृषि पदाधिकारी एवं कृषि विज्ञानी सेब के पौधों की बराबर निगरानी भी कर रहे हैं। कहते हैं अधिकारी : सहायक उद्यान पदाधिकारी राजीव रंजन ने सेब बगीचा के निरिक्षण उपरांत बताया कि हमारे किसान सलाहकार अनीश कुमार द्वारा लगाया गया सेब का सभी पौधा समय के हिसाब से काफी अच्छा है। इनके द्वारा काफी मेहनत की गई है। ऐसा प्रतीत होता है पहले वर्ष इसमें फलन आने की पूरी संभावना है।

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *