न्यूज बिहार भारत रोसड़ा समस्तीपुर

9 सूत्री मांगो को लेकर अनिश्चितकालीन धरना पर बैठे आशा कार्यकर्ता

समस्तीपुर रोसड़ा अनुमंडलीय अस्पताल के समीप 9 सूत्री मांगों को लेकर आशा कार्यकर्ता वो आशा फैसिलिटेटरो अनिश्चितकालीन धरना बैठे हुए हैंl 9 सूत्री मांगो में आशा कार्यकर्ता वो आशा फैसिलिटेटरो को राज्य निधि से देय 1000 रू० मासिक मानदेय बढ़ाकर 10000 किया जाए! वो पूर्व के बकाया राशि भुगतान किया जाए आशा कार्यकर्ता वो आशा फैसिलिटेररो को देय प्रोत्साहन मासिक पारितोषिक राशि का अधतन भूगतान सहित इसमें एकरूपता पारदशिता लाई जाय , आशाओ के भुगतान में व्याप्त भ्रष्टाचार – कमिशनखोरी पर सख्ती से रोक लगाई जाय, कोरोना काल की ड्यूटी के लिए सभी आशाओ – आशा फैसिलिटेटरो को 10 हजार कोरोना भता भुगतान किया जाय , आशाओ को देय पोशाक (सिर्फ साड़ी ) के साथ ब्लाउज पेटीकोट वो ऊनी कोट की व्यवस्था की जाय और इसके लिए देय राशि का अधतन भुगतान किया जाए!
फैसिलिटेटरो के लिए भी पोषाक का निर्धारण और उसको राशि भुगतान की शीघ्र व्यवस्था किया जाए , फैसिलिटेरो को २० दिन कि जगह पूरे माह का भ्रमण भत्ता एसबीसी दैनिक 500 रू० की दर से भुगतान किया जाए , वर्षा पूर्व विभिन्न कार्या के लिए निर्धारित पोत्साहन राशि की दरो में समुचित वुद्धि हेतु केन्द्र सरकार को प्रस्ताव एवं अनुशंसा प्रेषित किया जाए, आशा कार्यकर्ता वो आशा फैसिलिटेटरो को सरकारी कर्यमचारी का दर्जा दिया जाए !
कोरोना से (पुष्ट / अपुष्ट मृत आशाओ वो आशा फैसिलिटेररो को राज्य योजना का चार लाख और केन्द्रीय बीम योजना पचास लाख रुपए का राशि भुगतान किया जाए, आशा कार्यकर्ता वो आशा फैसिलिटेटरो को भी समाजिक सुरक्षा योजना पेंशन योजना का लाभ दिया जाए जब तक नही किया जाता हैं तब तक रिटायरमेंट पैकेज के रूप में 10 लाख का भुगतान किया जाए! 19 जनवरी के समझौते के अनुरूप मुकदमा वापस लिया जाए!

आशा अध्यक्ष निर्मला मिश्र ने बिहार सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के हर घर से महिला को बाहर निकाल दिया है लोग आशा कार्यकर्ता को झोला वाली और पर्स वाली कहता है सरकार प्रलोवन दे कर शोषण कर रहा है! जब कि आशा धूप बरसात बाढ़ कड़ाके की ठंड में भी प्रसव करवाने के लिए आते है ! साथ ही उन्होने बताया कि आशा को विश्राम करने की व्यवस्था किया जाए अस्पताल आते है तो बीन ड्रेस कोड के अन्दर आने नही देता है!
इस मैके पर राजकुमारी पुष्पा, मुन्नी देवी, सुनीता कुमारी, पवन कुमारी, रीना देवी , पूजा कुमारी, रेणु देवी, गीता देवी, सीता कुमारी , बीना कुमारी , सविता कुमारी, रामदुलारी देवी, कल्याणी देवी, पूजा कुमारी के अलावे क्षेत्र के सभी आशा वो फैसिलिटेटरो उपस्थित थे!

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *