BIHAR Education INDIA NEWS SAMASTIPUR

ई मेल के माध्यम से विशिष्ट शिक्षक नियमावली में सुधार की मांग

समस्तीपुर :-नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा को ले लगातार आन्दोलन चल रहे हैं इसी बीच विभाग ने नियोजित शिक्षकों के लिए अलग से नियमावली लाने का अभ्यास चल रहा है, इसी दौरान एक नियमावली का खाका मीडिया के माध्यम से भेजा गया है एवं दिनांक 17 अक्टूबर तक इसमे सुधार हेतु शिक्षको से सुझाव भी मांगें गए हैं इस नियमावली का नाम बिहार विद्यालय विशिष्ट शिक्षक नियमावली रखी गई है इसी आलोक में आज अंतिम दिन जिले के अधिकांस शिक्षकों ने ई मेल के माध्यम से अपने सुझाव दिए हैं जिसमे सभी ने एक सिरे से विशिष्ट शिक्षक बनने हेतु परीक्षा लिए जाने को धता बताते हुए कहा है कि परीक्षा तो हमलोग पहले हीं दे चुके हैं अब परीक्षा की बातें करना बिल्कुल गलत है इसी मसले पर टी ई टी एस टी ई टी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष श्री अशोक कुमार साहू ने बताया कि नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा बगैर शर्त सरकार को देना चाहिए, परीक्षा तो देकर शिक्षक आए हीं हैं, साथ हीं पी आर टी, टीजीटी, पीजीटी के जगह विशिष्ट शिक्षक नाम दिया जाना वाजिव नही, और पुराने नियमावली जब है हीं तो फिर नई नियमावली गैरवाजिव है।समस्तीपुर :-नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा को ले लगातार आन्दोलन चल रहे हैं इसी बीच विभाग ने नियोजित शिक्षकों के लिए अलग से नियमावली लाने का अभ्यास चल रहा है, इसी दौरान एक नियमावली का खाका मीडिया के माध्यम से भेजा गया है एवं दिनांक 17 अक्टूबर तक इसमे सुधार हेतु शिक्षको से सुझाव भी मांगें गए हैं इस नियमावली का नाम बिहार विद्यालय विशिष्ट शिक्षक नियमावली रखी गई है इसी आलोक में आज अंतिम दिन जिले के अधिकांस शिक्षकों ने ई मेल के माध्यम से अपने सुझाव दिए हैं जिसमे सभी ने एक सिरे से विशिष्ट शिक्षक बनने हेतु परीक्षा लिए जाने को धता बताते हुए कहा है कि परीक्षा तो हमलोग पहले हीं दे चुके हैं अब परीक्षा की बातें करना बिल्कुल गलत है इसी मसले पर टी ई टी एस टी ई टी उत्तीर्ण नियोजित शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष श्री अशोक कुमार साहू ने बताया कि नियोजित शिक्षकों को राज्यकर्मी का दर्जा बगैर शर्त सरकार को देना चाहिए, परीक्षा तो देकर शिक्षक आए हीं हैं, साथ हीं पी आर टी, टीजीटी, पीजीटी के जगह विशिष्ट शिक्षक नाम दिया जाना वाजिव नही, और पुराने नियमावली जब है हीं तो फिर नई नियमावली गैरवाजिव है।

टीईटी उत्तीर्ण समेत सभी नियोजित शिक्षकों की लड़ाई समान काम समान वेतन था विभाग बरगलाने का कार्य कर रही है, ऊपर से नई नियमावली और उसमे ढेर सारी खामियां, जिसमे सुधार हेतु जिले में कार्यरत सभी शिक्षकों ने मेल के माध्यम से अपनी मांगें सरकार के समक्ष रखी है मेल भेजने वालों में जय प्रकाश भगत, रंजीत कुमार रमन, सुजीत कुमार ठाकुर, पवन कुमार शर्मा , विरदे लाल यादव, मो इमरान, धर्मवीर, सिकन्दर राम , अवधेश महतो आदि प्रमुख हैंटीईटी उत्तीर्ण समेत सभी नियोजित शिक्षकों की लड़ाई समान काम समान वेतन था विभाग बरगलाने का कार्य कर रही है, ऊपर से नई नियमावली और उसमे ढेर सारी खामियां, जिसमे सुधार हेतु जिले में कार्यरत सभी शिक्षकों ने मेल के माध्यम से अपनी मांगें सरकार के समक्ष रखी है मेल भेजने वालों में जय प्रकाश भगत, रंजीत कुमार रमन, सुजीत कुमार ठाकुर, पवन कुमार शर्मा , विरदे लाल यादव, मो इमरान, धर्मवीर, सिकन्दर राम , अवधेश महतो आदि प्रमुख हैं

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *