BIHAR Gaya INDIA NEWS Politics

इंडिया गठबंधन के कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन

धीरज गुप्ता की रिपोर्ट।
GAYA BIHAR पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार आज आई एनडीआईए गठबंधन के कॉंग्रेस + राजद + ज़दयू + सीपीआई +सीपी आईएम + सीपीआई एम एल के नेता, कार्यकर्ता सैकड़ों की संख्या में एकजुट हो कर गया समाहरणालय के समक्ष शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर डॉ भीमराव अम्बेडकर जी के प्रतिमा स्थल से विरोध प्रदर्शन मार्च निकाला जीबी रोड होते हुए चौक स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रतिमा के समक्ष पहुच कर सभा में तब्दील हो गया है। बिहार प्रदेश कॉंग्रेस कमिटी के प्रदेश प्रतिनिधि सह प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिट्ठू ने बताया कि विरोध प्रदर्शन गया जिला कॉंग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ गगन कुमार मिश्रा, रा ज द जिला अध्यक्ष मोहम्मद निजाम, ज़द यू जिला अध्यक्ष पूर्व विधायक अभय कुशवाहा, सी पी आई के अध्यक्ष सीताराम शर्मा, सी पी आई ए म के राम खेला वन दास, माले के निरंजन कुमार के संयुक्त नेतृत्व में निकाला जिसमें शामिल सैकड़ों गठबंधन के नेताओं, कार्यकर्ताओं अपने, अपने हाथों में पार्टी झंडा, तख्तियां लेकर ‘ लोकतंत्र की हत्या बंद करो, डेढ़ सौ सांसदों का निलंबन वापस लो, लोकतंत्र पर हमला नहीं सहे गे, आदि नारों को बुलंद करते हुए गांधी मैदान, राय काशी नाथ मोड़, गया समाहरणालय, जी बी रोड, चौक पर जम कर नारे बाज़ी किया गया है।

गया चौक स्थित राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के प्रतिमा के समक्ष इंडिया गठबंधन के नेताओं ने महती जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि विपक्षी सांसद विगत कई दिनों से संसद में हुई सुरक्षा चूक पर गृहमंत्री का जवाब की मांग कर रहे हैं। परंतु मोदी सरकार इसे अनसुनी कर लोकतंत्र के सबसे बडे मंदिर लोकसभा, राज्यसभा से लगभग 150 सांसदों को सड़क पर फेंक दिया, जिससे देशवासियों में भयानक आक्रोश है। देश के प्रधानमंत्री संसद के बजाय वाराणसी, सूरत आदि जगहों पर विभिन्न कार्यक्रमों में उल्टे विपक्ष पर अनर्गल आरोप लगा कर रहे हैं।देशवासियों को दिग्भ्रमित करने का काम कर रहे हैं।

नेताओं ने कहा कि आज तक के संसदीय इतिहास में ऐसा कभी नहीं हुआ है कि विपक्ष के कुछ ऐसे भी सांसद निलंबित हुए जो संसद में मौजूद भी नहीं थे, इससे प्रमाणित होता है कि मोदी सरकार विपक्ष विहीन संसद चाहती है‌। जिसे भरत की महान जनता होने नहीं देगी, आने वाले 2024 के लोकसभा चुनाव में भाजपा गठबंधन को धूल चट्टानें का काम करेगी। नेताओं ने कहा विपक्षी सांसदों के निलंबन मामले पर जब पूरे देश में उबाल है।तो दुसरी ओर मिमिक्री जैसे हवा, हवाई, मनगढ़ंत,तथ्य हीन मुद्दे को तूल दिलाने हेतु धरना-प्रदर्शन, पुतला दहन कर आखिर मोदी सरकार देश के किसानों जिन्हे एक वर्ष से ज्यादा तक चले आंदोलन के बारे में न जाने सरकार के लोग क्या, क्या नहीं कहे थे और आज क्या कह रहे हैं। जाठ राज्यपाल सत्यपाल मल्लिका,जाठ पहलवान बेटी की बातों को नजरअंदाज करने वाले आज उन्हें जाठ की याद आ रही है।
नेताओं ने कहा कि आई ए न डी आई ए गठबंधन में शामिल 28 दल चट्टान की तरह एकजुट है। जिससे घबराई ए न डी ए गठबंधन तरह,तरह के हथकंडे अपना रहे हैं।विरोध प्रदर्शन में कॉंग्रेस पार्टी के पूर्व विधायक मोहम्मद खान अली, प्रदेश प्रवक्ता प्रो विजय कुमार मिट्ठू, पूर्व जिला अध्यक्ष चंद्रिका प्रसाद यादव, गया नगर निगम के महापौर वीरेंद्र कुमार उर्फ गणेश पासवान,पूर्व डिप्टी मेयर मोहन श्रीवास्तव, अखिल भारतीय कॉंग्रेस अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय सचिव सह झारखंड प्रभारी मोहम्मद उमैर खान उर्फ टीका खान, जिला कॉंग्रेस उपाध्यक्ष बाबूलाल प्रसाद सिंह, डॉ शशि शेखर सिंह, सुमंत कुमार, राम प्रमोद सिंह, युगल किशोर सिंह, विद्या शर्मा,युवा कॉंग्रेस अध्यक्ष विशाल कुमार, श्वेता यादव,संतोष कुशवाहा,प्रदीप शर्मा ,विपिन बिहारी सिन्हा, कुंदन कुमार, मोहम्मद मो ज़मील, सुनील कुमार राम,मोहम्मद अजहरुद्दीन, रंजीत कुमार सिंह,अमित सिंह, जितेंद्र कुमार,श्रवण पासवान, शिव कुमार चौरसिया,विनोद उपाध्याय,धर्मेंद्र कुमार निराला, राजीव कुमार सिंह उर्फ लाबी सिंह, दामोदर गोस्वामी, अमन कुमार,नवाब अली,बबलू राम,बबलू शर्मा,खरुद्दीन जी,नवल शर्मा,नंदू जी,रामजी मांझी,ब्रजेश राय,मो ताजुद्दीन,रामजी मांझी,शिव शंकर प्रसाद,शांति देवी,मंत्री देवी, सी पी आई के जिला अध्यक्ष सीताराम शर्मा, अखिलेश प्रसाद, सीपीआई ए म के कपिलदेव प्रसाद, पी ए न सिंह, रीता वर्णवाल, मोहम्मद खैर उद्दी न, बबलू राम , कुंडल वर्मा, विनोद कुमार, सुभाष यादव, जितेंद्र यादव आदि सैकड़ों लोग शामिल थे। प्रदर्शन कार्यक्रम के समाप्ति के बाद राष्ट्रपति के नाम जिला अधिकारी को विस्तृत ज्ञापन भी दिया गया है।

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *