INDIA NEWS

आशा विश्वास सम्मेलन से ज्योति बाबा ने शुक्लागंज को स्मोक फ्री बनाने की भरी हुंकार।

KANAPUR/ UP:- कानपुर यदि छात्र सकारात्मक कार्य आशा और विश्वास के साथ करेगा तो अवश्य पूर्ण होगा और यदि आशा व विश्वास की कमी है तो असफलता ही हाथ लगेगी,आशा को लेकर जीवन जीने में सफलता व आनंद दोनों प्राप्त होते हैं निराशा मे मनुष्य अपने कर्तव्यों को हीन भावना से देखता है जो आशावादी उत्साही हैं उन्हें उनके जीवन में कभी भी दुख नहीं मिलता जीवन संघर्षों से लड़कर जीने में ही मजा है और उसी में आनंद है क्योंकि संघर्ष मनुष्य आशा को लेकर करता रहता है आशा विश्वास ही विजय सफलता सुख व आनंद सब कुछ दिलाता है इसीलिए नशे के रोग को अपने जीवन में कभी नहीं बुलाना चाहिए क्योंकि नशा आपके संपूर्ण व्यक्तित्व को नष्ट कर अविश्वास के अंधेरे में धकेल देता है उपरोक्त बात नव वर्ष नशा मुक्ति थीम पर नशा मुक्त भारत अभियान के तहत सोसाइटी योग ज्योति इंडिया के तत्वाधान में बालेश्वरी चैरिटेबल ट्रस्ट,रोटरी क्लब गंगा घाट शुक्लागंज के सहयोग से सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज गोपीनाथपुरम में आयोजित आशा विश्वास सम्मेलन एवं सम्मान समारोह के अवसर पर यूथ मोटीवेटर अंतर्राष्ट्रीय नशा मुक्ति अभियान के प्रमुख जॉय इन लाइफ के प्रणेता योग गुरु ज्योति बाबा ने कही,ज्योति बाबा ने आगे कहा कि मस्तिष्क वही करता है जो कहा जाता है जो डालेंगे,वही परिणाम निकलेगा।

डॉ रॉबर्ट पियर्सेल ने उदाहरणों से यह सिद्ध किया है कि बीमारियां मन में गंदे विचारों का बाहरी स्वरूप है सफाई आध्यात्मिक सकारात्मक विचारों से हो सकती है आप जो विश्वास करते हैं वही सच्चाई बन चुकी है बन रही है वहीं बनेगी। ज्योति बाबा ने जोर देकर कहा कि आशावादिता से जीवनदान मिल सकता है विशेषज्ञ कहते हैं जो सुखी है संतुष्ट है या ऐसी एक्टिंग करते हैं उनकी उम्र अधिक होती है। विशिष्ट अतिथि पूर्व अध्यक्ष शुक्लागंज नगर पालिका मनोज गुप्ता ने कहा की इसका प्रत्यक्ष प्रमाण कोरोना काल में भी देखने को मिला,जिन्होंने आशा और विश्वास भगवान पर पूर्ण रूप से किया उन्होंने रोगों को मात तो दी ही साथ में सकुशल जीवन भी प्राप्त किया। मरियल लड़का नेपोलियन व फटेहाल हेनरी फोर्ड विश्व में नामी उद्योगपति बनते हैं विश्वास को विचारों व कल्पना से बदलकर जीवन को सफल व सुखमय बनाया जा सकता है इस मौके पर छात्रों ने तिरंगा लेकर नशा रोग से आजादी के गगन भेदी नारे भी लगाए, सम्मेलन में रोटरी क्लब गंगा घाट के अमित मिश्रा व विवेक गुप्ता एवं स्कूल प्रबंधन ने ज्योति बाबा का भव्य सम्मान नवरत्न सेवा श्री सम्मान उनके 35 वर्षों के नशा मुक्ति युवा भारत के लिए आश्चर्यचकित करने वाले कार्यों की उपलब्धियों के लिए दिया, वरिष्ठ मनोवैज्ञानिक ने कहा कि सबसे अहोभाग्य पूर्ण अविश्वास है अपने पर विश्वास से एक मनुष्य 20 दिनों तक भूख व प्रतिदिन 200 किलोमीटर तक दौड़ सकता है मस्तिष्क हजारों सुपर कंप्यूटर से बेहतर है प्रोजेक्ट कोऑर्डिनेटर रितेश मिश्रा ने कहा कि युद्ध एवं विपरीत परिस्थितियों में लोग असाधारण शक्ति साहस एवं आंतरिक बल का प्रदर्शन करते हैं यदि उनको अपनी इस ऊंचाई पर पहले से ही विश्वास हो तो उनकी जीवन धारा बदल जाए।

ज्योति बाबा ने सभी को आशा एवं विश्वासपूर्ण जीवन के साथ नशा मुक्त जीवन जीने का संकल्प 3000 छात्रों को कराया। इस मौके पर रेडियो पार्टनर 92.7 बिग एफएम ने विशेष सहयोग दिया। इस अवसर पर हुए सम्मान समारोह में मुख्य कार्यक्रम संयोजक समाजसेवी कमल वर्मा ने नवरत्न सेवा श्री सम्मान से समाजसेवियों को अंगवस्त्र एवं ट्रॉफी देकर सम्मानित किया ।सम्मेलन की अध्यक्षता कमल वर्मा व धन्यवाद स्कूल प्राचार्य नरेंद्र कुमार मिश्रा ने दिया।

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *