BIHAR INDIA NEWS SAMASTIPUR

शंकरपुर रजिस्टर घाट पर पुल नहीं बनने से हो रही है परेशानी,क्षेत्र के लोगों ने फूका बिगुल पुल नहीं तो वोट नही।

शिवाजीनगर प्रखंड अंतर्गत शंकरपुर रजिस्टर घाट पर पुल नहीं बनने से लगभग 50 से 60 गांव के लोगों को परेशानी हो रही है। करेह नदी के पूर्वी छोड़ के दर्जनों गांव को प्रखंड मुख्यालय एवं जिला मुख्यालय आने के लिए काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। लोग नाव से उस पार से इस पर और इस पर से उसे पर आने को मजबूर है। नाव से करेंह नदी पार करना जोखिम भरा काम है। इसी दौरान 2014 एवं 2015 में घटना घटित हुई थी। बता दे की 2014 में जब नाव पलटी तब दो लोग लापता हो गए थे। उसके बाद फिर 2015 में नाव पलटी जिसे ग्रामीणों के सहयोग से सभी लोगों को सुरक्षित निकाला गया। इसके बाद 2015 में रजिस्टर घाट पर पुल निर्माण करने की मांग की गई थी। जिसको लेकर स्वीकृति भी हो गई थी 12.5 करोड़ की लागत से पुल का निर्माण कराया जाना था। सालों साल बीत जाने के बाद भी अभी तक पुल का निर्माण नहीं हो पाया है। बता दे की 2015 में ग्रामीण विकास मंत्रालय पटना द्वारा पुल निर्माण की मंजूरी दी गई थी। उसे समय नदी के दोनों किनारे बसे गांव के लोगों को लगा कि अब पुल का निर्माण हो जाएगा लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि 8 साल बीत जाने के बाद भी समस्याएं जस की तस बनी हुई है। इस संदर्भ में शंकरपुर पंचायत के शंकरपुर गांव में सभी ग्रामीणों के सहयोग से ग्राम सभा का आयोजन किया गया उस ग्राम सभा में शंकरपुर रजिस्टर घाट पर पुल को लेकर चर्चा किया गया। उसमें आने वाली आगमी लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा किया गया पुल नहीं तो वोट नहीं युवा मन संघर्ष मोर्चा, समिति श्याम बाबू सिंह, अरुण कुमार सिंह, राम विनोद सिंह, सुनील कुमार ,तपेश्वर प्रसाद सिंह ,लाल बाबू मंडल, दूल्हा नंद मंडल, ललित कुमार सिंह, मोदी नारायण सिंह, राजाराम मंडल ,आशीष कुमार, मनीष कुमार ,सुशील प्रसाद सिंह, बैजनाथ प्रसाद सिंह, बलराम सिंह सहित ग्रामीणों ने निर्णय लिया है कि जब तक रजिस्टर घाट पर पुल का निर्माण नहीं किया जाएगा तब तक आगामी आने वाले लोकसभा चुनाव विधानसभा चुनाव में वोटिंग नहीं की जाएगी। प्रखंड मुख्यालय व जिला मुख्यालय जाने का मात्र एक ही रास्ता है जिससे लोग आना-जाना करते हैं। फूल नहीं होने के कारण भारी वाहनों का आना-जाना बंद है जिससे प्रखंड मुख्यालय जिला मुख्यालय आने वाले लोगों को काफी परेशानी होती है। गांव से 8 किलोमीटर दूर बरियाही घाट पुल एवं काकड़ पुल 9 किलोमीटर दूरी तय करके लोग आना जाना करते हैं | 

किसान स्कूली बच्चों व आम लोगों को भी हो रही है परेशानी
गांव शकरपुर, सीतुआही, सुझाव, ओरा, नवकाटोल, महदेवा, पीपरोलिया, पोखरभिटा, घिवाही , गुलरही , बुनियादपुर , रहियार, सरवट्टी, मोहन घाटी , कलवारा , मजरहिया, श्यामपुर थाली समेत दर्जनों गांव के किसान स्कूली बच्चे एवं आम लोगों को आवाजाही का मात्र एक साधन नव बना है । नदी में जलस्तर अधिक होने पर खतरे की आशंका बनी रहती है । शंकरपुर घाट और घिवाही घाट पर पुल निर्माण के लिए लोगों की लंबे समय से मांग चल रही है । उक्त घाट पर दो बाड़ नाव हादसा हुआ था । जान जोखिम में डालकर नाव के सहारे लोग आवागमन करते हैं।करेह नदी में पुल निर्माण के लिए स्थानीय जनप्रतिनिधि से कई बार मांग किया गया था । आवागमन की समस्या को लेकर स्थानीय सुशील कुमार सिंह , ललित कुमार सिंह , बैजनाथ प्रसाद सिंह , राम लखन मंडल , शैतान मंडल , गंगा मंडल , अरुण कुमार , श्याम बाबू सिंह , नवीन कुमार , विनोद कुमार , सूरज नारायण मंडल , अर्जुन मंडल , सहदेव मंडल , बिल्टू शर्मा ने बताया है।

खास तौर पर मरीज को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। गर्भवती महिलाओं को प्रसव कराने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र शिवाजीनगर एवं अनुमंडल अस्पताल रोसडा़ आना पड़ता है सुविधा नहीं होने के कारण लोगों को बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। छोटे छोटे बच्चे को विद्यालय जाने के लिए नव का सहारा लेना पड़ता है |
पुल निर्माण हो जाने से गांव घिवाही क्ष, गुलरही , बुनियादपुर , रहियार, सरवट्टी, मोहन घाटी , कलवारा , मजरहिया, श्यामपुर थाली सहित 25 से 30 गांवों के लोगों को प्रखंड मुख्यालय, अनुमंडल कार्यालय , रोसडा़ न्यायालय सहित छात्र- छात्राएं को उच्च शिक्षा प्राप्त के लिए रोसडा़ तक पहुंचाते हैं | जिला मुख्यालय , जिला न्यायालय, बेहतर उपचार के लिए जिला मुख्यालय जाने में लोगों को होता है परेशानी | पुल बन जाने से लोगों की परेशानी होगी समाप्त |

शिवाजीनगर प्रखंड के शंकरपुर पंचायत रजिस्टर घाट पर पुल बनने को लेकर विभागीय अधिकारी से लेकर जनप्रतिनिधि तक को दिए गए ग्रामीणों के द्वारा आवेदन केंद्रीय मंत्री स्र्व रामविलास पासवान , समस्तीपुर लोकसभा स्व सांसद रामचंद्र पासवान , रोसडा़ पूर्व विधायक डॉ अशोक कुमार , समस्तीपुर सांसद प्रिंस राज, रोसडा़ पूर्व विधायक मंजू हजारी, समस्तीपुर पूर्व एमएलसी रोमा भारती , रोसडा़ विधायक वीरेंद्र कुमार, समस्तीपुर जिलाधिकारी , रोसडा़ अनुमंडल पदाधिकारी , शिवाजीनगर प्रखंड विकास पदाधिकारी, वारिसनगर विधायक अशोक कुमार मुन्ना , पूर्व मंत्री श्याम रजक, रोसडा़ लोक शिकायत लोक निवारण पदाधिकारी , समस्तीपुर लोक निवारण पदाधिकारी को आवेदन के माध्यम से कई साल पूर्व में ही पुल बनाने को लेकर ग्रामीणों के द्वारा मांग किया गया था | लेकिन अब तक नहीं बनाया गया पुल ग्रामीण सहित रहागीर है परेशान |

Loading

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *