लोगों के घरों में घुसा बाढ़ की पानी, नहीं मिल रही हैं सरकारी राहत।

राजकमल कुमार / रिपोर्टर / बेलदौर।

बेलदौर प्रखंड के बाढ़ प्रभावित क्षेत्र को देखते हुए जिला पदाधिकारी के द्वारा तेलिहार स्लुइस गेट का मरम्मत कार्य एक माह पूर्व करवाया गया था। मालूम हो कि मरम्मत के कार्य आंतरिक प्रमंडल समस्तीपुर एवं बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल खगड़िया के द्वारा तेलिहार एवं कचहरी मिश्रा बासा के नजदीक मरम्मती कार्य करवाया गया था।

लेकिन उक्त कार्य में घटिया निर्माण को लेकर पानी रिसाव स्लुइस गेट से तेलिहार के नजदीक हो रहा है। बताया जाता है कि नदी किनारे गेट को सर्विस गेट कहते हैं, वहीं दूसरी ओर गांव की ओर जाने वाले गेट को इमरजेंसी गेट कहते हैं। सर्विस गेट से रिसाव होते हुए इमरजेंसी गेट के बाहर ग्रामीणों के क्षेत्र में बाढ़ का पानी रिसाव होकर घुस रहा है।

वहीं वार्ड नंबर आठ में शुलीच गेट के समीप रिसाव हो रहा है जिससे ग्रामीणों को चिंता सता रहा है की मेरे घर में पानी प्रवेश ना कर जाए। वही तेलिहार पंचायत के देव नारायण सिंह ने बताया कि 30 से 40 घर में बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाने से उक्त व्यक्ति को परेशानी करना पड़ रहा है। वही ग्रामीणों के घरों के अंदर पानी भर जाने के कारण लोगों को खाने-पीने की समस्या में किल्लत हो रही हैं।  वार्ड नंबर 8 तेलिहार पंचायत के जमीन दारी बांध नदी किनारे बसे लोगों के घरों में पानी घुस जाने के कारण बांध का सहारा लेना पड़ रहा है। जिनसे उनका चूल्हा चौकी सारा बंद हो चुका है। रोड पर जिंदगी बिताने के लिए बेबस है‌। वही तेलिहार पंचायत के पंच अशोक ठाकुर ने बताया कि बाढ़ आने से नदी किनारे बसे हुए उपेन्द्र पासवान, जोगी सादा, राजेश सदा, मूलचंद सदा, मो. गुला देवी ने बताया कि सरकार की ओर से आने वाली कोई भी अभी तक सुविधा का लाभ नहीं मिला है। जिनसे हम लोगों के राहत सामग्री प्रशासन की ओर से पहुंचाया नहीं गया है। वही कंजरी पंचायत के वार्ड नंबर 14 बाढ़ से प्रभावित लगभग दो सौ लोगों के घर है, जिनके घरों में बाढ का पानी जा चुका है। वही 17 नंबर वार्ड में 30 से 40 घर एवं 11 नंबर वार्ड मैं कटाव  हो रही है।

जिसमें उक्त गांव के मुख्य सड़क तक आवागमन पूरी तरह से ठप हो चुका है। जिनसे लोगों के आवागमन में परेशानी हो रही है। उक्त वार्ड नंबर में कटाव भी शुरू हो गई है। जिसकी आबादी करीब एक हजार बताई जा रही है। वहीं पंचायत समिति सदस्य राजेश सहनी ने बताया कि जल्द से जल्द उक्त क्षेत्रों में नाव की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी तो, आवा गमन नहीं किया तो भूख  से मर जाएंगे । वही उक्त पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि इंदल यादव, सरपंच प्रतिनिधि चंदन चौधरी, वार्ड सदस्य विनोद सिंह, फूलों साह, मुन्ना सिंह, कामदेव सिंह, इंदल सहनी ने बताया कि यदि मेरे गांव में जल्द से जल्द हम लोगों के बीच की सुविधा उपलब्ध नहीं कराई जाएगी तो बाढ़ से हो रही कटाव में हम लोगों के घर बाढ़ का पानी प्रवेश कर जाएगा। मालूम हो कि तेलिहार पंचायत के जमीन दारी बांध से सटे वार्डों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है, कितने ग्रामीणों के घर में चूल्हा तक पानी प्रवेश किया है। उक्त स्थल पर रह रहे ग्रामीणों ने बताया कि खाना बनाने के दौरान जंगली जीव जंतु घर में प्रवेश कर जाता है। जिससे हम लोग डरे सहमे हुए हैं। मेरे आंगन में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है, यहां तक की धीरे-धीरे कटाव भी हो रही है। हम लोगों के चापाकल पर जाना भी मुश्किल हो चुका है, हम लोग ऊंचे अस्थान ढूंढ रहे हैं। यदि हम लोगों को ऊंचा स्थान नहीं मिलेगा तो घर में रह रहे परिजनों को काफी परेशानी भुगतना पड़ेगा। इस संबंध में सीओ अमित कुमार ने बताया कि प्रखंड क्षेत्र में निचले इलाके में बाढ़ का पानी प्रवेश कर चुका है। जहां नाव की आवश्यकता होगी, उक्त स्थल पर नाव दिया जाएगा।

 945 total views,  2 views today

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *